मप्र में 11 जनवरी के बाद लौटेगी ठंड; बादल छंटने पर हवा का रुख होने लगेगा उत्तरी

0
2

भोपाल। मध्‍य प्रदेश में मौसम का मिजाज 11 जनवरी के बाद तेजी से बदलेगा। इसके साथ ही ठंड के असर भी तेज होने लगेगा। 11 जनवरी के बाद बादल छंटने पर हवा का रुख उत्तरी होने लगेगा। इसके साथ ही ठंड बढने लगेगी। मौसम ‎विभाग की माने तो देश के उत्तरी क्षेत्रों से आने वाली सर्द हवाओं के कारण न्यूनतम तापमान में तेजी से गिरावट होने लगेगी।

उत्तर भारत के पहाड़ों पर लगातार भारी बर्फबारी का दौर जारी है। हालात यह हैं कि वहां पहाड़ों पर बर्फ की मोटी चादर सी बिछी हुई है। मौसम विज्ञानियों का कहना है कि वर्तमान में भी एक पश्चिमी विक्षोभ अफगानिस्तान और पाकिस्तान के बीच में सक्रिय है। इसके प्रभाव से हवाओं का रुख बदला हुआ है। वातावरण में नमी होने के कारण बादल छाए हुए हैं और कहीं-कहीं बरसात भी हो रही है। वरिष्ठ मौसम विज्ञानी अजय शुक्ला ने बताया कि वर्तमान में अफगानिस्तान और पाकिस्तान के बीच एक पश्चिमी विक्षोभ बना हुआ है। इसके असर से उत्तर भारत के पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी हो रही है। एक द्रोणिका लाइन (ट्रफ) कर्नाटक से गुजरात होकर महाराष्ट्र तक बनी हुई है। इन दो सिस्टम के कारण हवाओं का रुख बदला हुआ है। साथ ही अरब सागर में एक चक्रवात बना हुआ है। इस सिस्टम के कारण मिल रही नमी से मध्यप्रदेश में अधिकांश स्थानों पर बादल बने हुए हैं। इससे कही-कहीं बरसात भी हो रही है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक अभी दो दिन तक मौसम का मिजाज इसी तरह बना रहने के आसार हैं। पश्चिमी विक्षोभ के उत्तर भारत से आगे बड़ जाने पर 11 जनवरी से बादल छंटने का सिलसिला शुरू होने की संभावना है। साथ ही हवा का रुख भी बदलकर उत्तरी होने के आसार है। इससे न्यूनतम तापमान में गिरावट का सिलसिला शुरू होने लगेगा। बता दें कि जनवरी का पहला सप्ताह बीत चुका है। इसके बावजूद वातावरण से ठंड गायब है।

LEAVE A REPLY