JU करेगा खादी का प्रमोशन, छात्रों को भी दी जाएगी ट्रेनिंग

0
7

ग्वालियर।अजयभारत न्यूज
आत्म निर्भर भारत की दिषा में काम करते हुए जीवाजी विश्वविद्यालय बेहतर कदम उठाने जा रहा है। इसके अंतर्गत जेयू अब खादी का प्रमोशन करेगा। इसके तहत खादी के मास्क, हैंकी, कुर्ती, बैग, फोटो फ्रेम सहित अन्य आइटम्स बनाए जाएंगे। ये सभी आइटम्स जेयू के सीआईएफ स्किल डवलपमेंट डिपार्टमेंटद्वारा तैयार किए जाएंगे। यही नहीं इन आइटम्स को बनाने के बाद इनका प्रमोशन भी जीवाजी विश्वविद्यालय ही करेगा।

सीआईएफ के कोऑर्डिनेटर प्रो. डीडी अग्रवाल ने बताया कि इसके लिए जेयू में कुछ स्टाल लगाए जाएंगे और जेयू के टीचर्स, कर्मचारियों सहित छात्रों को भी खादी के महत्व के बारे में भी बताया जाएगा।इस दिशा में काम करते हुए जेयू ने कुछ आइटम्स तैयार भी कर लिए हैं। इन्हें सीआईएफ की रचना पांडेय, सोनिया दंडोतिया ने डॉ. साधना श्रीवास्तव वीआरएस गुर्जर और वीरेंद्र शंखवार के मार्गदर्शन में तैयार किया है। ये सभी आइटम्स गुरूवार से जेयू कैंपस में ज्ञान पथ के पास स्टाल पर उपलब्ध होंगे। स्टाल के लिए अन्य स्थानों का चयन भी किया जाएगा।
आंत्रप्रेन्योरशिप के तहत करेंगे प्रमोट
इन सबके बीच सबसे खास बात यह होगी कि खादी के इन आइटम्स को जेयू के सीआईएफ के स्किल डवलपमेंट विभाग की द्वारा बनाकर तैयार किया जाएगा। खादी के आइटम्स को बनाने के लिए जीवाजी विश्वविद्यालय के छात्रों को ट्रेनिंग भी दी जाएगी। इसकी जिम्मेदारी सीआईएफ को ही दी गई है। दरअसल मार्केट में मिलने वाले मास्क आदि में किस कपड़े का कैसा उपयोग किया गया है, यह हर कोई नहीं जानता। जबकि खादी के मास्क का उपयोग करने से स्किन को किसी प्रकार का खतरा नहीं होता और इसे धोकर फिर से प्रयोग में लाया जा सकता है। प्रमोषन की कड़ी में खादी के फायदे और उसके महत्व से भी परिचित कराया जाएगा।
होगा पौधरोपण
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिवस के अवसर पर जेयू परिसर में सुबह 9.30 बजे से विश्वविद्यालय परिसर में सौ पौधों का रोपण किया जाएगा। इसके अलावा स्वच्छता अभियान, विश्वविद्यालय द्वारा गोद लिए गांव में कुपोषित व टीबी से ग्रसित बच्चों को स्वास्थ्य परीक्षण किया जाएगा। इस अवसर पर कुलपति प्रो. संगीता शुक्ला सहित विश्वविद्यालय के सभी अधिकारी, शिक्षक व कर्मचारी मौजूद रहेंगे।
आत्म निर्भर भारत की दिशा में बेहतर कदम
जेयू के स्किल डवलपमेंट विभाग द्वारा खादी को प्रमोट करने की दिशा में काम किया जाएगा। इसके लिए छात्रों को प्रमोट भी करेंगे। यह आत्म निर्भर भारत की दिशा में बेहतर कदम साबित होगा।
–प्रो. संगीता शुक्ला, कुलपति जेयू

LEAVE A REPLY