21 से खुलेंगे 9वीं से 12वीं तक स्कूल, विद्यार्थियों का स्कूल आना अनिवार्य नहीं

0
3

भोपाल। प्रदेश में आगामी 21 सितंबर से 9वीं से 12वीं कक्षा तक स्कूल खुलने जा रहे हैं। प्रदेश भर के स्कूल स्कूल शिक्षा विभाग के आदेश पर खुलने जा रहे हैं। बहरहाल विद्यार्थियों के लिए स्कूल आना अनिवार्य नहीं है, यानी आदेश स्वैच्छिक है। विद्यार्थियों का जब दिल चाहे तब वह स्कूल आएं और अगर न चाहें तो न आएं। इस बार अटेंडेंस के आधार पर कोई व्यवस्था नहीं रहेगी। बाकी कक्षाएं और स्कूल 30 सितंबर तक बंद रहेंगे।

पहले की तरह उनकी ऑनलाइन पढ़ाई जारी रहेगी। ऑनलाइन कक्षाओं में आने वाली समस्या और सवालों की उलझन को दूर करने 21 सितंबर से कक्षा 9वीं से लेकर 12वीं तक के स्कूल ही खोले जा रहे हैं। स्कूलों में विद्यार्थी ऑनलाइन पढ़ाई के दौरान आ रही समस्याओं का निराकरण कर सकेंगे। यानी जिन बच्चों को विषय को लेकर किसी तरह की समस्या है वो शिक्षकों से मार्गदर्शन लेने स्कूल आ सकते हैं। हालांकि माता-पिता को स्वयं अपने बच्चों को स्कूल आने की अनुमति देनी होगी। शिक्षकों से मार्गदर्शन लेने स्कूलों को आंशिक रूप से खोलने की छूट दी जा रही है। इस दौरान कोरोना से बचाव के लिए कोविड-19 के नियमों का पालन करना अनिवार्य होगा। नया शिक्षा सत्र कोरोनाकाल में ही शुरू हुआ और तभी से ऑनलाइन क्लासेस चल रही हैं। अब पांच महीने बाद स्कूल खुलने जा रहे हैं लेकिन वो भी आंशिक रूप से और तमाम पाबंदियों के साथ। बाकी, कक्षा की ऑनलाइन पढ़ाई जारी रहेगी। जिन्हें 30 सितंबर तक बंद रखने के निर्देश हैं। विभाग की ओर से इस संबंध में गाइडलाइन भी जारी कर दी गई है। स्कूल पहुंचने वाले सभी विद्यार्थियों के साथ ही शिक्षकों और कर्मचारियों को फेस कवर करना अनिवार्य होगा। स्कूल में मास्क पहनना जरूरी होगा। क्लास में शारीरिक दूरी का पालन करना होगा।

एक बैंच के बीच में करीब 6 फीट की दूरी रखना अनिवार्य होगी। स्कूल छोड़ते समय और खाली समय में विद्यार्थियों को एक साथ ग्रुप में खड़े होने की अनुमति नहीं दी जाएगी। स्कूल के खुलने से पहले और बंद होने के बाद सभी कक्षाओं, लाइब्रेरी, लैब, लॉकर, पार्किंग, रेलिंग दरवाजे, कुर्सियों, लिफ्ट के बटन, वॉशरूम को सैनिटाइज करना जरूरी होगा। कंटेनमेंट जोन के विद्यार्थी, शिक्षक और कर्मचारियों के स्कूल आने पर पाबंदी रहेगी।कोई भी छात्र, शिक्षक या कर्मचारी बीमार है तो उन्हें स्कूल आने की अनुमति नहीं दी जाएगी। जगह-जगह पर स्कूलों में सैनिटाइजर रखना होगा।

LEAVE A REPLY