मप्र के कई इलाकों में बरसात का दौर शुरु; राजधानी में 34 किमी. की रफ्तार से चली हवाएं

0
1

भोपाल। मध्य प्रदेश के कई इलाकों में आज फिर बारिश का दौर शुरू हो गया है। राजधानी भोपाल में गुरुवार सुबह से ही आसमान पर बादल बने हुए थे। कुछ बादल छंटे तो उमस ने लोगों को बेचैन करना शुरू कर दिया। उधर शाम के वक्त अचानक 34 किमी. की रफ्तार से हवा चलते लगी। काली घटाएं छाने के साथ ही तूफानी बरसात शुरू हो गई। इस दौरान भोपाल शहर में शाम 5ः30 बजे से रात 11ः30 बजे तक 46.4 मिमी. बारिश हुई। इस अवधि में एयरपोर्ट क्षेत्र में 17 मिमी. बरसात हुई।

मौसम विज्ञान केंद्र के वरिष्ठ मौसम विज्ञानी अजय शुक्ला ने बताया कि गुरुवार को दिन का अधिकतम तापमान 33.7 डिग्री दर्ज हुआ,जो सामान्य से 3 डिग्री अधिक रहा। न्यूनतम तापमान 24.8 डिग्री रिकार्ड किया गया। यह भी सामान्य से 2 डिग्री अधिक रहा। शुक्ला ने बताया कि पूर्वी उत्तरप्रदेश से विदर्भ तक बनी द्रोणिका(ट्रफ) और बंगाल की खाड़ी में बने चक्रवात के कारण प्रदेश में गरज-चमक के साथ तेज बौछारें पड़ने का सिलसिला शुरू हो गया है। 13 सितंबर से बरसात की गतिविधियों में और तेजी आएगी। उप्र से विदर्भ तक बने ट्रफ के कारण अरब सागर से बड़े पैमाने पर नमी आ रही है। बंगाल की खाड़ी में भी कम दबाव का क्षेत्र तैयार हो रहा है। इस वजह से वहां से भी नमी मिलने का सिलसिला बना हुआ है। उधर बीच-बीच में धूप निकलने से दिन का अधिकतम तापमान बढ़ रहा है। इससे दोपहर के बाद गरज-चमक के साथ बरसात हो रही है। यह सिलसिला अभी जारी रहेगा। 13 सितंबर को बंगाल की खाड़ी से कम दबाव के क्षेत्र के आगे बढ़ने की संभावना है।

इसके बाद राजधानी सहित प्रदेश के कई स्थानों पर झमाझम बरसात का दौर शुरू होने के आसार हैं।उधर इंदौर, देवास, दमोह और सिवनी सहित आस-पास के इलाकों में बारिश हुई। मौसम विभाग नागपुर की वेबसाइट पर जारी रिपोर्ट के अनुसार आज भोपाल, जबलपुर, होशंगाबाद संभाग के जिलों और दमोह, सागर, सतना, रीवा, देवास, उज्जैन, रतलाम, खरगोन, खंडवा, बुरहानुपर, आलीराजपुर और बड़वानी में गरज चमक के साथ तेज बारिश हो सकती है। दमोह में बीते 1 सप्ताह से मौसम सामान्य बना हुआ था और धूप के कारण लोगों को उमस का सामना करना पड़ रहा था, लेकिन गुरुवार दोपहर अचानक ही मौसम में परिवर्तन हुआ और आसमान में बादल छा गए। कुछ देर बाद तेज बारिश शुरू हो गई। अभी लगातार बारिश जारी है। सिवनी जिले में रुक-रुक कर हो बारिश का दौर जारी है। अतिवृष्टि व बाढ़ से फसलों को भारी नुकसान हुआ है।

LEAVE A REPLY