जन्माष्टमी आज , गोपाल मंदिर में प्रवेश वर्जित;सोशल मीडिया पर लाइव दर्शन की सुविधा उपलब्ध

0
13

ग्वालियर।अजयभारत न्यूज
कोरोना महामारी के चलते ग्वालियर जिले के प्रसिद्ध फूल बाग परिसर स्थित श्री गोपाल मंदिर में इस बार भक्तों का प्रवेश निषेध है। कोरोना संक्रमण के कारण जिला प्रशासन ने फैसला किया है कि जन्माष्टमी का पर्व परंपरागत तरीके से मनाया जाएगा, लेकिन इस दौरान मंदिर में होने वाली भीड़ को ध्यान में रखते हुए बाहर परिसर में बड़ी स्क्रीन लगाई जाएगी, जहां भगवान के जन्मोत्सव को श्रद्धालु देख सकेंगे. वहीं सोशल मीडिया में लाइव दर्शन की भी सुविधा दी जाएगी।
सिंधिया राजवंश द्वारा 1921 में फूल बाग परिसर में सर्वधर्म को ध्यान में रखते हुए मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारा और चर्च का निर्माण कराया गया था, जो आज भी अपने आप में अनूठा है, लेकिन राधा कृष्ण के गोपाल मंदिर के लिए सिंधिया शासकों ने बेशकीमती आभूषण भी बनवाए थे। जिनमें हीरे, मोती, पन्ना और विभिन्न रत्नों के करीब 100 करोड़ के आभूषण मंदिर को भेंट में दिए थे। अब ये आभूषण निगम की संपत्ति है।
हर साल जन्माष्टमी के एक दिन पहले बैंक से इन आभूषणों को लॉकर से निकलवाया जाता है और निगम की ट्रेजरी में पुलिस की मौजूदगी में भगवान का श्रृंगार किया जाता है।आधी रात को भगवान श्री कृष्ण का जन्म होने और प्रसादी वितरण के बाद इन गहनों को उतारकर वापस निगम की ट्रेजरी में रखा जाता है और उन्हें दूसरे दिन सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया की इंदरगंज शाखा में जमा करा दिया जाता है। कई सालों से ये परंपरा चली आ रही है। नगर निगम ग्वालियर अब इन चारों धार्मिक स्थलों की देखभाल करता है। कोरोना संक्रमण के कारण इस बार गोपाल मंदिर को सजाया संवारा जा रहा है, लेकिन भक्तों का प्रवेश एक या दो की संख्या में ही हो सकेगा. कोरोना के कारण ये पहला मौका है जब जन्माष्टमी के दिन भगवान को अपने भक्तों के बीच ये महोत्सव मनाने का मौका नहीं मिलेगा।
कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिये कार्यपालिक दण्डाधिकारी तैनात
ग्वालियर।जिले में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी त्यौहार पर कानून व्यवस्था एवं कोविड-19 से संबंधित दिशा-निर्देशों का पालन कराने के लिये कार्यपालिक दण्डाधिकारियों को जिम्मेदारी सौंपी गई है। कोविड-19 संक्रमण को ध्यान में रखकर सार्वजनिक स्थलों पर किसी भी प्रकार का धार्मिक आयोजन प्रतिबंधित किया गया है। मंदिरों एवं अन्य पूजा स्थलों पर एक बार में पाँच से अधिक श्रृद्धालुओं का प्रवेश भी प्रतिबंधित है।
जन्माष्टमी पर अनुविभाग लश्कर के अंतर्गत कानून व्यवस्था बनाए रखने की जवाबदेही एसडीएम लश्कर विनोद भार्गव (मोबा. 9425116564) को सौंपी गई है। इसी तरह ग्वालियर सिटी में एसडीएम प्रदीप तोमर (मोबा. 9425112082), अनुविभाग झाँसी रोड़ के अंतर्गत एसडीएम अनिल बनवारिया (मोबा. 9425112874), अनुविभाग मुरार में एसडीएम एच बी शर्मा, (मोबा. 9425743666), अनुविभाग ग्वालियर ग्रामीण में एसडीएम श्रीमती पुष्पा पुषाम (मोबा. 9425309123), अनुविभाग घाटीगाँव में एसडीएम प्रदीप शर्मा (मोबा. 9425129303), अनुविभाग डबरा में एसडीएम राघवेन्द्र पाण्डेय (मोबा. 8435092161) तथा अनुविभाग भितरवार के अंतर्गत कानून व्यवस्था बनाए रखने की जिम्मेदारी अश्विनी कुमार रावत (मोबा. 7898602754) को सौंपी गई है। सभी एसडीएम अपने स्तर से भी अधीनस्थ कार्यपालिक दण्डाधिकारियों की ड्यूटी लगा सकेंगे।
श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर ग्वालियर शहर में फूलबाग स्थित गोपाल मंदिर में श्री राधा कृष्ण की मूर्ति के श्रृंगार के लिये बहुमूल्य आभूषणों को लाने और वापस कोषालय व बैंक में पहुँचाने के दौरान कानून व्यवस्था बनाए रखने की जवाबदेही नायब तहसीलदार सिटी सेंटर कुलदीप दुबे (मोबा. 8964973309) को सौंपी गई है।

LEAVE A REPLY