ADJ राजाबाबू ने भी की थी कार सेवा

0
8

ग्वालियर।अजयभारत न्यूज
भगवान श्री राम की जन्मभूमि पावन अयोध्या में मुगल शासक बाबर द्वारा बनवाई गई बाबरी मस्जिद को 1992 में कारसेवकों ने ढहा दिया था, कारसेवा में देश के हर कोने से श्रीराम के भक्त शरीक हुए थे उसी भीड़ में प्रदेश के एडीजी राजाबाबू सिंह भी थे तब वे आईपीएस नहीं थे इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के एक विद्यार्थी थे लेकिन ईस्वर के प्रति उनकी अगाध आस्था शुरू से रही लिहाज़ा, युवा हृदय में प्रभु श्री राम की जन्मभूमि देखने और रामलला के दर्शन की लालसा भी मन मे हिलोरें मार रही थीं।
श्री सिंह कहते हैं कि अपने साथियों को लेकर वे भी कार सेवा में शिरकत करने अयोध्या पहुंच गए और जो बना वो किये। उन्होंने बताया कि मत्था टेककर रामलला के दर्शन भी किये औऱ उनसे प्रार्थना भी की की आपकी कृपा से आपका यहाँ भव्य मंदिर बने,28 साल गुजर गए 5अगस्त को प्रधानमंत्री मोदी जी भव्य मंदिर निर्माण के लिए भूमिपूजन करेंगे। एडीजी श्री सिंह का कहना है समूचे देशवाशियों चाहे वह किसी भी जाति या समुदाय का हो उसके लिए गर्व का विषय है। उन्होंने कहा कि भारतीय संस्कृति के लिये क्लाइमेक्स स्थापित हो रहा है, पीएम शिलान्यास करेंगे, श्री सिंह जितने आनन्दित हैं उतने रोमांचित भी, आखिर उनका सपना जो साकार हो रहा, रामलला ने उनकी प्रार्थना को स्वीकार किया था, हालांकि यह अभिलाषा समूचे देशवाशियों की थी आज पूरा देश गौरवान्वित है लेकिन श्री सिंह कारसेवक की भूमिका में थे ऐसे में उनके उत्साह का पारावार नहीं है खुद उन्हें गर्व हो रहा है।
सामाजिक गतिविधियों में मशगूल
बता दें कि मूलतः यूपी के बाँदा जिले के पचनेही में जन्मे श्री सिंह अब एडीजी जैसे महत्वपूर्ण पद पर होते हुए भी धर्म, अध्यात्म, पर्यावरण और सामाजिक गतिविधियों को लगातार गति देने में मशगूल हैं। सख्त पुलिस ऑफिसर के साथ आप जनता की सेवा में कभी पीछे नही हटते, समाज को एक नई दिशा देने के लिए आपने कठिन व्रत ले रखा है जिसे पूरी शिद्दत के साथ निभा रहे हैं।

LEAVE A REPLY