प्रदेश के 16 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी,सतना, सागर, टीकमगढ़ और भिंड ‎जिले शा‎मिल

0
7

भोपाल। मध्यप्रदेश के शहडोल संभाग के जिलों, रीवा, सतना, दमोह, सागर, छतरपुर, टीकमगढ़, नरसिंहपुर, बैतूल, हरदा, बुरहानपुर, खंडवा, खरगोन, गुना, अशोकनगर, भिंड और मुरैना में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। यह चेतावनी मौसम विभाग नागपुर की वेबसाइट पर जारी रिपोर्ट में दी गई है।
उधर शहडोल, होशंगाबाद, इंदौर, ग्वालियर और चंबल संभाग के जिलों में कहीं-कहीं गरज चमक के साथ बारिश की संभावना जताई गई है। एक ओर जहां बैतूल जिले में बारिश की लंबी खींच से फसलें बर्बाद होने की कगार पर हैं वहीं बुधवार सुबह घोड़ाडोंगरी विकासखंड में मक्का और गन्ने की फसल पर तेज हवाओं का जमकर कहर बरपा। घोड़ाडोंगरी विकासखंड के अंतर्गत आने वाले 1 दर्जन से अधिक ग्रामों में रात 3.30 से 4 बजे के बीच तेज हवाओं के साथ हुई बारिश से गन्ना व मक्का की फसल खेत में आड़ी हो गई है। इससे अब उत्पादन होने की संभावना भी खत्म हो गई है।

इस विकासखंड के ग्राम जुआड़ी, कोयलारी, छुरी, मयावानी, हीरावाड़ी, सीताकामाथ, केरिया, माथनी, कुही, मेहकार, चारगांव, रतनपुर, शोभापुर, रानीपुर सहित आसपास के ग्रामों में तड़के सुबह 3.30 से 4 बजे के बीच तेज हवाओं के साथ भारी बारिश हुई। इससे मक्का व गन्ना की कमर ही टूट गई और पूरी फसल खेत में बिछ गई है। जुआड़ी के किसान नरेंद्र कुमार महतो, राजेश महतो, विक्रांत महतो, विनय महतो, विशाल महतो, शुभम महतो, सुभाष महतो ने बताया कि एक तो बारिश हो नहीं रही और आज सुबह जो बारिश हुई उसने फसल को भारी नुकसान पहुँचाया है। स्‎थानीय किसान राजकुमार मलैया, अशोक मलैया ने तहसीलदार से अतिशीघ्र सर्वे कराकर किसानों को मुआवजा देने की मांग की है। हर साल किसानों को किसी ना किसी तरह की परेशानी का सामना करना पड़ता है। एक तरफ बारिश नहीं हो रही है और बारिश हुई तो उसने फसल को पूरी तरह बर्बाद करके रख दिया।

LEAVE A REPLY