गणपति उत्सव पर कोरोना का असर, महाराष्ट्र में गणेश उत्सव में 4 फुट से बड़ी प्रतिमा पर रोक

0
9

मुंबई। कोरोना वायरस महामारी का असर तीज-त्यौहार पर पड़ने लगा है. महाराष्ट्र सरकार ने शनिवार को गणेश उत्सव को लेकर एसओपी जारी किया है. जिसके अनुसार पंडालों में चार फुट से ऊंची गणेश प्रतिमा की इजाजत नहीं होगी. महाराष्‍ट्र के गृह विभाग की ओर से जारी की गई एसओपी के अनुसार, घर के लिए गणेश प्रतिमा अधिकतम 2 फुट की होनी चाहिए. लोग घर पर ही गणेश महोत्‍सव की पूजा करें. वहीं अगर किसी को प्रतिमा खरीदनी है तो पर्यावरण के अनुकूल मिट्टी की मूर्तियों को प्राथमिकता दें.

उधर सरकार ने भी कहा है कि कोरोना वायरस महामारी के बढ़ते कहर को देखते हुए इस बार गणेश महोत्‍सव एकदम साधारण तरीके से मनाया जाएगा. गणेश महोत्‍सव के पंडालों में गणेश प्रतिमा चार फुट से ज्‍यादा ऊंची नहीं लगाई जाएगी. लोग इस बार घर के अंदर ही गणेश महोत्‍सव का आयोजन और घर के अंदर ही विसर्जन करने की कोशिश करें. अगर ऐसा नहीं कर पा रहे हैं तो नजदीकी कृत्रिम तालाब में विसर्जन करें. 2021 की माघी गणपति तक विसर्जन स्थगित करना चाहिए. लोग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के बजाय, कृपया रक्तदान शिविर जैसी सामाजिक सेवा की पहल करें. आयोजन के लिए दान पर जोर न दें. केवल स्वैच्छिक दान ही लें. बता दें कि इस बार गणेश चतुर्थी 22 अगस्त से शुरू हो रही है.
– इस बार नहीं बैठेंगे लालबागचा राजा, मंडल मनाएगा इस बार स्वास्थ्य उत्सव
महाराष्ट्र के सबसे मशहूर गणपति मंडलों में शुमार लालबागचा इस बार गणपति उत्सव नहीं मनाएगा. कोरोना महामारी को देखते हुए लालबागचा गणपति मंडल ने ये फैसला लिया. दरअसल मंडल के अधिकारियों का कहना है कि गणपति की लंबाई कम नहीं की जा सकती है. अगर छोटी मूर्ति भी लाई जाती है तो बप्पा के दर्शन के लिए भी बड़ी तादाद में लोग जमा होंगे. ऐसे में लोगों की सुरक्षा का ध्यान रखते हुए इस साल न ही कोई मूर्ति होगी, न ही मूर्ति विसर्जन किया जाएगा. लालबागचा मंडल इस बार गणपति उत्सव को स्वास्थ्य उत्सव के तौर पर मनाएगा. इसके तहत ब्लड डोनेशन कैंप लगाए जाएंगे. प्लाज्मा थेरेपी को प्रमुखता दी जाएगी. वहीं, कोरोना से मरने वाले पुलिसकर्मियों के परिवार की आर्थिक मदद भी की जाएगी. लालबागचा राजा गणेशोत्सव मंडल के सचिव सुधीर साल्वी ने कहा- ‘इस बार गणेश उत्सव के बजाय मंडल सीएम रिलीफ फंड में दान करेगा. साथ ही एलओसी और एलएसी में शहीद हुए जवानों के परिवार की मदद की जाएगी.’

LEAVE A REPLY