कॉस्मो वैली में अय्याशी करते दबोचा

0
7

ग्वालियर। अजयभारत न्यूज
समय 2.15 बजे क्राइम ब्रांच के थाना प्रभारी दामोदर गुप्ता के मोबाइल पर घंटी बजी कलेक्ट्रेट के पीछे कॉस्मो वेली के फ्लेट नम्बर बी-11 में दो युवक और दो युवती अन्दर घुसे हुए और पिछले एक माह से लगभग प्रतिदिन की यही कहानी है। इन लोगों से कॉस्मो वैली के सभी लोग परेशान है। इसी सूचना पर डीएसपी नागेन्द्र सिकरबार, टीआई दामोदर गुप्ता, आईएस नरेन्द्र सिसौदिया, कीर्ति अजमेरिया, एएसआई राजकुमार सिंह और सिरोल थाना प्रभारी पप्पू यादव ने कॉस्मो वैली में मय वीडियो कैमरे महेश भदौरिया के साथ मिलकर दविश दी। जब क्राइम ब्रांच की टीम कॉस्मो वैली के फ्लैट नम्बर बी-11 में वीडियो कैमरा चालू करा कर प्रवेश किया तो उसमें एक युवती अण्डे बना रही तो दूसरी युवती के साथ रंगरंगलिया मना रहा था युवक।
क्या है पूरा मामला
मकरंद बौद्ध अपनी बाइक अपाचे नम्बर एमपी07 एमपी0617 पर युवती को बैठाकर कॉस्मो वैली पहुंचा था। दोपहर 2.30 बजे जब क्राइम ब्रांच की टीम ने कॉस्मो वैली में दविश दी तो दो युवक मकरंद बौद्ध और योगेश चौधरी अलग अलग युवतियों के साथ अन्दर थे। जिसमें एक युवती अंडे बना रही तो दूसरे कमरे में मकरंद बौद्ध राखी (बदला हुआ नाम) अर्द्धनग्न अवस्था में पुलिस की टीम को मिले। जिसे महिला पुलिस कर्मियों अपने कब्जे में लेकर कपड़े पहनाये और वहां से सीधे सिरोल थाने ले आये। पुलिस ने कार्यवाही करते हुए मकरंद बौद्ध और योगेश चौधरी पर आईपीसी की धारा 376 और 34 धारा में कार्यवाही की है। मकरंद बौद्ध जिस मोटर साईकिल से युवती को लेकर जाता था उस बाइक पर पुलिस का सिम्बोल बना हुआ है। ऐसा बताया जा रहा है कि मकरंद बौद्ध पिछले कई अपराधों में शामिल रहा है जिसमें पूर्व विधायक पर हुए हमले में भी शामिल था और 2 अप्रैल को हुए दंगे में शामिल था। जिसको लेकर पुलिस और जिला प्रशासन काफी परेशान रहा।सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पुलिस को जो युवती मकरंद बौद्ध के साथ मिली वह जीवाजी विश्वविद्यालय में कम्प्यूटर ऑपरेटर के पद पदस्थ है।

LEAVE A REPLY