16 टीमों के आने से सरकार को रहेगा कोरोना संक्रमण बढ़ने का खतरा
लंदन। इंग्लैंड की टीम के सीमित ओवरों के कप्तान और अनुभवी बल्लेबाज इयोन मॉर्गन के अनुसार इस साल टी20 विश्व कप के आयोजन की संभावनाएं नहीं हैं। मॉर्गन का मानना है कि जिस प्रकार के हालात अभी ऑस्ट्रेलिया में हैं, उससे भी विश्व कप होने से वायरस संक्रमण फिर फैलने का खतरा रहेगा क्योंकि इस दौरान दुनियाभर से टीमें यहां आयेंगी। इसके अलावा यात्रा संबंधी पाबंदियों के कारण टीमों के लिए वहां जाना आसान नहीं होगा। ऑस्ट्रेलिया में पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार 18 अक्टूबर से 15 नवंबर के बीच टी20 विश्व कप का आयोजन होना है।
मॉर्गन ने कहा, ‘अगर यह पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार होता है तो मुझे हैरानी होगी।’ उन्होंने कहा, ‘ऑस्ट्रेलिया ने जिस तरह से महामारी से बचाव किया है उसे देखकर मैं यह सब कह रहा हूं। उन्होंने काफी पहले ही अपनी सीमाएं बंद कर दी थीं। यात्रा प्रतिबंधों के कारण ही दुनिया के बाकी देशों की तुलना में ऑस्ट्रेलिया में सीमित संख्या में मामले सामने आए हैं।’ ऐसे में सभी पाबंदियों को एकसाथ हटाना खतरे को बढ़ा सकता है।
ऐसे में ऑस्ट्रेलिया सरकार की सबसे बड़ी चिंता यह होगी कि विश्व कप के आयोजन से कोरोना के कई मामले सामने आ सकते हैं जिसे संभालना उसके लिए और कठिन हो जाएगा। इसके साथ ही उनको यह पता नहीं होगा कि अगर वायरस का फिर से प्रकोप होता है तो प्रतिरोधक क्षमता कैसी होगी और यह कितनी तेजी से फैलेगा। मॉर्गन ने कहा कि टीमें दुनियाभर के देशों से वहां खेलने के लिए पहुंचेंगी और ऐसे में दूसरी बार कोविड-19 के संक्रमण की संभावनाएं भी बन रहेगी। उन्होंने कहा, ‘विभिन्न मैच स्थलों पर 16 टीमों के आने से खतरे की आशंका भी कई गुना बढ़ जाएगी।’
गिरजा/28मई ईएमएस

LEAVE A REPLY