कालाबाजारियों के सामने बेबस ग्वालियर प्रशासन, होम डिलीवरी के आदेश को भी हवा में उड़ाया

0
16

ग्वालियर।अजयभारत न्यूज
कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने 21 दिन के राष्ट्रीय लॉक डाउन के दौरान शहर वासी अपने घरों पर ही रहें इस लिए ग्वालियर जिला प्रशासन ने खाने पीने की सामग्री की होम डिलेवरी करने वाले दुकानदारों की सूची आज जारी कर दी। लेकिन जिला प्रशासन का यह प्रयोग प्रारम्भिक रूप से पूरी तरह से नाकाम होता दिखाई दे रहा है। एक तरफ जहां शहर में आटा आदि सामानों की खुलकर कालाबाजारी की जा रही है। वहीं शहरवासियों को होम डिलेवरी करने के सरकारी आदेश को भी दुकानदारों ने हवा में उड़ा दिया है।
होम डिलेवरी की सूची में शामिल अधिकांश दुकानदारों ने या तो अपने मोबाइल बन्द कर लिए हैं या फिर सामान न होने या व्यवस्था का रोना रोकर सामान घर पहुंचाने से साफ इंकार कर दिया। इतना ही नहीं होम डिलेवरी की सूची में शामिल अधिकांश दुकानदार अपनी दुकान पर सामान की कालाबाजारी करते दिखाई दिए। कई दुकानदार शटर डालकर दूरी बनाए रखने के आदेश को भी धता बताकर भीड़ में सामान बेचते दिखे। आश्चर्य की बात तो यह थी की कोई भी सरकारी मशीनरी इनपर लगाम लगाते दिखाई नहीं दी।
शिकायतें मिली हैं
इस बात को लेकर जब ग्वालियर कलेक्टर श्री सिंह से बात की तो उन्होंने स्वीकार किया की उन्हें भी होम डिलेवरी न किये जाने व सामान की कालाबाजारी करने की शिकायतें मिली हैं उन्होंने इसे गम्भीरता से लेते हुए उन दुकानदारों को शाम 5 बजे तलब किया है जिन्हें होम डिलेवरी के लिए चिन्हित किया गया है। कलेक्टर श्री सिंह ने कहा की इन दुकानदारों को हर हाल में प्रशासन के आदेश का पालन करना होगा यदि इन्होंने यह नहीं माना तो कानूनी कार्यवाही की जाएगी।उधर रोजमर्रा की सामग्री न मिलने के कारण आज भी लोग सड़कों पर भटकते दिखाई दिए आटा, तेल,दाल, दूध आदि की जमकर कालाबाजारी होती रही और स्थानीय प्रशासन हाथ पर हाथ धरे बैठा रहा।

LEAVE A REPLY