Covid-19 : CM शिवराज सिंह का जनता के नाम संदेश- कोरोना से डरें नहीं लड़ें

0
37

भोपाल: कल पीएम नरेन्द्र मोदी  के बाद अब आज मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश की जनता से कोरोना के खिलाफ जंग में साथ आने की अपील की है. प्रदेश की जनता के नाम संदेश में मुख्यमंत्री ने कहा किसी को डरने की ज़रूरत नहीं है. कोरोना से डरें नहीं बल्कि लड़ें. अपने को और अपने लोगों को बचाने के लिए घर पर रहें. सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें.
सीएम शिवराज सिंह चौहान ने अपनी बात की शुरुआत नवरात्रि और नव वर्ष की शुभकामनाएं देते हुए की. उन्होंने कहा कि मां इतनी शक्ति देना कि कोरोना हो ना. सब स्वस्थ रहें.लेकिन मां भी उसकी मदद करती हैं जो अपनी मदद करता है. शिवराज सिंह चौहान ने कहा संकट का समय है लेकिन इससे डरने की ज़रूरत नहीं हैं. . कोरोना को समाप्त करने का एकमात्र उपाय संपर्क क्रम तोड़ना है. इसलिए 21 दिन के इस लॉक डाउन में पीएम मोदी की अपील का पूरी तरह पालन करें.
मेल-जोल ना रखें
शिवराज सिंह चौहान ने अपील की, 21 दिन के इस लॉक डाउन का 1 दिन निकल गया है. 20 दिन भी निकल जाएंगे. हमने 22 मार्च को जनता कर्फ्यू के दौरान जो संदेश दुनिया को दिया है उसे जारी रखें. पीएम मोदी ने जो लक्ष्मण रेखा बतायी है उसका पूरी तरह से पालन करें. मुख्यमंत्री ने कहा-मैं सबसे भावुक अपील करता हूं कि सब अपने को, अपने मित्रों, परिवार, प्रदेश, देश और जगत के लिए 20 दिन तक केवल अपने घर में रहें. अगर 21 दिन हम अपने घर में रह गए तो इस बीमारी की कमर तोड़ देंगे.
कलेक्टर-एसपी को निर्देश
सीएम शिवराज सिंह चौहान ने जानकारी दी कि कलेक्टर और एसपी के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस करके उन्हें ज़रूरी दिशा निर्देश दे दिए गए हैं. 21 दिन के लॉक डाउन के दौरान दूध, किराना, दवाई की दुकानें खुली रहेंगी. अगर ज़रूरी है तो परिवार का एक सदस्य निकले. 3 मीटर का सोशल डिस्टेंस बनाएं और ज़रूरी सामान खरीदे. इस दौरान कोई धार्मिक-सामाजिक आयोजन नहीं होंगे. नवरात्रि का पर्व है. घर में साधना-उपासना करें. घर पर रहकर पढ़िए, लिखिए. परिवार को समय दीजिए.
कोरोना वीरों का सम्मान करें
शिवराज सिंह चौहान ने कहा-संकट की इस घड़ी में हमारे डॉक्टर, सरकारी अमला, पुलिस और मीडिया कर्मी दिन रात काम कर रहे हैं. आप उन्हें सहयोग करें. कोरोना जानलेवा बीमारी नहीं है. हम सावधानी बरतेंगे तो कोरोना को परास्त कर देंगे. कोरोना पीड़ित चिंतित न हों. हम सरकारी, निजी अस्पताल में व्यवस्था कर रहे हैं. हर सर्दी-खांसी कोरोना नहीं होती. ज़रूरत पड़ने पर हेल्प लाइन नंबर 104 और 181 पर फोन कीजिए. सीएम ने कहा इन बीमारियों की दवाई स्वयंसेवी, वॉलियंटर्स के ज़रिए घर पर भेजी जाएगी.
दान-दाताओं से अपील
सीएम शिवराज सिंह ने कहा मैं सभी समाज सेवियों, दानदाताओं से अपील करता हूं कि गरीबों के खान-पान की व्यवस्था करें. हॉस्टल में रह रहे लोग वहीं रहें. सूचना मिलने पर आवश्यकता की चीजें, खान-पान की उनके लिए वहीं व्यवस्था की जाएगी. उन्होंने बताया कि कई लोग मदद के लिए आगे आए हैं. उनके सहयोग से भोजन की व्यवस्था की जाएगी. मुख्यमंत्री ने कहा मुख्यमंत्री राहत कोष में मदद करें. बीपीएल लोगों को फिलहाल एक महीने का निशुल्क भोजन उपलब्ध कराया जाएगा.
मैं हूं ना…
किसान परेशान न हों. कटाई का समय है. उनके हारवेस्टर आने से रोके नहीं जाएं. ड्राइवर की स्क्रीनिंग की जाएगी. लेकिन किसान गांव से बाहर न निकलें.थोड़े दिन संयंम रखें. शहर न आएं. गेहूं की खरीद की व्यवस्था भी जाएगी. गुरुवार को इस संबंध में दिशा निर्देश जारी हो जाएंगे. मैं हूं ना. हम मिलकर व्यवस्था बेहतर करेंगे. आपको दिक्कत और परेशानी नहीं आएगी.
मनोबल बड़ा है
शिवराज सिंह चौहान ने कहा-हम कोरोना के खिलाफ मिलकर लड़ेंगे. हमारा मनोबल बड़ा है. सब लोग इस जंग में पीएम मोदी के साथ खड़े हों. इस जंग को जीतना है तो लॉक डाउन को सफल बनाएं. शिवराज सिंह चौहान ने कहा- मैं अभिनंदन करता हूं-डॉक्टर, पुलिस, मीडिया, सफाई कर्मी का. उन्होंने चेतावनी दी कि डॉक्टरों से कोई अमानवीय व्यवहार ना करें वरना उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. जमाखोरी और कालाबाज़ारी से बचें. कोरोना के खिलाफ ये जंग इंसानियत और मानवता को बचाने, परिवार को बचाने की लड़ाई है. घर पर रहकर पीएम के बताए रास्ते पर चलकर हम लड़ें और जीतें.

LEAVE A REPLY