4 मई तक शनि और मंगल क रहेगा उत्पात;29 मार्च से देवगुरु बृहस्पति भी लाचार

0
21

भोपाल। ग्रहों की स्थिति बदल रही है। 22 मार्च को मंगल ग्रह मकर राशि में प्रवेश कर जाएगा । ज्योतिष शास्त्र के अनुसार मंगल को राजनीति का कारक ग्रह माना गया है।मंगल और शनि के एक साथ होने से राजनीति क्षेत्र में उथल-पुथल बढ़ेगी। 22 मार्च के बाद राजनीतिक स्थितियां तेजी से बनी और बिगड़ेगी।
29 मार्च को देव गुरु बृहस्पति मकर राशि में पहुंच जाएंगे। जिसके कारण इस राशि में 3 प्रमुख ग्रह एक साथ होंगे, शनि की राशि में गुरु के आ जाने से गुरु निर्बल हो जाएंगे।
ज्योतिषियों के अनुसार मंगल राजनीति का कारक है शनि न्याय के देवता हैं। इस कारण 29 मार्च के बाद देश की राजनीतिक स्थितियों में काफी उठापटक होगी। इसी दौरान महामारी और प्राकृतिक आपदाएं भी बढ़ेंगे। यह स्थिति 4 मई तक बनी रहेगी। जोशीओं के अनुसार 24 अप्रैल के बाद आगजनी की घटनाएं भी बढ़ेंगे। मौसम गर्म होगा अपराधों में भी वृद्धि होगी।

LEAVE A REPLY