स्वच्छता सर्वेक्षण 2020 … ग्वालियर को सुंदर बनाने का लेना होगा संकल्प

0
12

SUNILसुनील भदौरिया

-निगमायुक्त ने कहा – शहर को स्वच्छ व सुंदर बनाने में नागरिक करें सक्रिय सहभागिता
ग्वालियर।स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत चल रहे स्वच्छता सर्वेक्षण 2020 में ग्वालियर शहर की उच्च रैंक के लिए शहर के सभी नागरिकों की सक्रीय सहभागिता अति आवशयक है। नगर निगम ग्वालियर द्वारा ग्वालियर शहर को स्वच्छ व सुंदर शहर बनाने के लिए तेजी से अनेक कार्य किये जा रहे हैं। इसके साथ ही शहर के नागरिक भी शहर को साफ व स्वच्छ रखने के प्रति अपनी जिम्मेदारी को समझें व शहर के नागरिक होने के नाते शहर के प्रति जिम्मेदारी का निर्वहन भी करें।
नगर निगम आयुक्त संदीप माकिन ने बताया कि नगर निगम ग्वालियर द्वारा ग्वालियर शहर को साफ व स्वच्छ बनाने एवं हमारा शहर सुंदर कैसे दिखे इसके लिए तेजी से कार्य किये जा रहे हैं। जिसमें शहर की दीवारों व फ्लाई ओवर की दीवारों पर सुंदर सुंदर चित्रकारी की जाकर स्वच्छता का संदेश दिया जा रहा है। इसके साथ ही मुख्य सड़कों के डिवाइडरों का भी रंग रोगन किया जाकर उन्हें सुंदर बनाया जा रहा है। इसके साथ ही शहर में मुख्य सड़कों पर जहां जहां कचरा ठिया थे उन्हें व्यवस्थित कर सैल्फी पाॅइंट बनाया जा रहा है।
सड़कों की स्वच्छता
शहर की सड़कांे की स्वच्छता के लिए सभी प्रमुख सड़कों पर रोड़ मैकेनाइज्ड स्वीपिंग मशीन के माध्यम से सफाई कराई जा रही है, तथा डोर टू डोर कचरा संग्रहण वाहन के माध्यम से प्रत्येक घर से सूखा व गीला कचरा अलग-अलग एकत्रित किया जाकर ट्रांसफर स्टेशन के माध्यम से लेंडफिल साइड केदारपुर भेजा जा रहा है। वहां कचरे से जैविक खाद, फियूल सहित अन्य उत्पाद बनाये जा रहे हैं। इसके साथ ही प्लास्टिक व पाॅलीथिन कचरे से अलग कराकर व अभियान चलाकर पाॅलीथिन जप्त की जा रही जो कि बामोर स्थित प्लांट पर भेजी जाकर उसका सड़क निर्माण एवं पेवर ब्लाॅक्स बनाने के लिए पुर्नउपयोग किया जा रहा है।
मलवे का पुर्नउपयोग
इसके साथ ही शहर से निकलने वाले भवन निर्माण के मलवे का भी पुर्नउपयोग नगर निगम द्वारा बेहतर तरीके से किया जा रहा है। जिसमें निगम द्वारा मलवे को शहर से उठवा कर नया गांव स्थित प्लांट पर भिजवाकर उससे पेवर ब्लाॅक्स एवं फिलींग मटेरियल बनाया जा रहा है। इसके साथ ही नगर निगम ग्वालियर द्वारा सीवर के पानी को भी ट्रीटेड कर उसका पुर्नउपयोग किया जा रहा है। जिसमें फूलबाग जलविहार के पीछे बनाये गए 1 एमएलडी के सीवर ट्रीटमेंट प्लांट पर सीवर के पानी को ट्रीट किया जाकर उसका पुर्नउपयोग बैजाताल में नौकायान एवं शहर के डिवाइडरांे पर लगे पेड पौधों की सिंचाई एवं चैराहों व मूर्तियों की धुलाई के लिये किया जा रहा है।
आॅनलाइन फीडबैक दें
स्वच्छता सर्वेक्षण 2020 में अलग अलग सर्वे के आधार पर शहर की रैंकिंग की जायेगी। जिसमें शहरवासियों द्वारा आॅनलाइन फीडबैक के भी अलग से अंक हैं। इसी को देखते हुए शहर के अधिक से अधिक नागरिकों को अपने शहर ग्वालियर को सर्वेक्षण में उच्चतम रैंक दिलाने के लिए स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 एप के माध्यम से स्वच्छता से संबंधित 7 सवालों के सकारात्मक जबाव आॅनलाइन दर्ज कराने हैं। इसी आधार पर शहर को स्वच्छता सर्वेक्षण में रैंक प्रदान की जावेगी।
—————और इधर कल सायं 6 बजे से ———————————-
स्वच्छता के सुर ..
लाइव प्रस्तुति देगें बाॅलीवुड के गायक जावेद अली
ग्वालियर।स्वच्छ भारत अभियान के तहत देशभर में चल रहे स्वच्छता सर्वेक्षण के प्रति ग्वालियर शहर के नागरिकों को जागरूक करने के लए नगरीय प्रशासन विभाग मध्य प्रदेश द्वारा 15 जनवरी को सायं 6 बजे से स्वच्छता के सुर कार्यक्रम का आयोजन मोती महल स्थित बैजाताल के तैरते रंगमंच पर किया जा रहा है। कार्यक्रम के मुख्य आकर्षण बाॅलीवुड के प्रख्यात गायक कलाकार जावेद अली होगें। कार्यक्रम का आयोजन नगर निगम ग्वालियर द्वारा स्मार्ट सिटी ग्वालियर के संयोजन में किया जा रहा है।
निगमायुक्त संदीप माकिन एवं सीईओ स्मार्ट सिटी महीप तेजस्वी ने प्रेसवार्ता में जानकारी देते हुए बताया कि स्वच्छता के प्रति हर नागरिक को अपनी जिम्मेदारी का निर्वाहन पूर्ण ईमानदारी व सजगता के साथ करना चाहिए तथा अपने घर, गली मोहल्ले एवं काॅलोनी के साथ ही शहर को स्वच्छ रखने की जिम्मेदारी भी हम सभी की है। वर्तमान में देशभर में स्वच्छता सर्वेक्षण 2020 के तहत क्यूसीआई टीम द्वारा सर्वे किया जा रहा है तथा ग्वालियर में भी शीघ्र ही सर्वेक्षण टीम के सदस्यों द्वारा स्वच्छता का सर्वे किया जायेगा। इसके साथ ही सर्वेक्षण के दौरान शहर के नागरिकों से भी फीडबैक लिया जा रहा है। जिसके आधार पर शहर की स्वच्छता रैंकिंग तय की जायेगी।निगमायुक्त संदीप माकिन ने बताया कि फीडबैक के आधार पर अभी ग्वालियर शहर प्रदेश में चौथे पायदान पर चल रहा है। शहर के नागरिकों की सजगता एवं शहर के प्रति जागरूकता से ग्वालियर शहर नम्बर एक स्थान पर आ सकता है। शहर के सभी नागरिकों को स्वच्छता सर्वेक्षण में ग्वालियर शहर की उच्चतम रैंक के लिए सकारात्मक फीडबैक स्वच्छता एप के माध्यम से दर्ज कराना चाहिए।
पार्षद कार्यकाल समाप्त…
मोबाइल फोन , अखबार की सुविधा भी छीनी
ग्वालियर। ग्वालियर नगर निगम के पार्षदों की गत 10 जनवरी को विदाई पार्टी होते ही निगम प्रशासन ने पार्षदों को मिलने वाली महती समाचार पत्रों तथा मोबाइल की सुविधा को तत्काल प्रभाव से बंद करवा दिया है। इसके बाद से कुछ पार्षद अब अपने बंद पडी सिमों को फिर से एक्टिव कराने के लिए दुकानों के चक्कर लगा रहे हैं।
नगर निगम परिषद का कार्यकाल हाल ही में 10 जनवरी को समाप्त हो गया। कार्यकाल से पहले निगम के 66 पार्षदों सहित वरिष्ठ पार्षदों को मोबाइल पर बात करने के लिए सिम निगम की ओर से मुहैया कराया गया था। जिस पर वह किसी भी अधिकारी कर्मचारी से सीयूजी के माध्यम से कितनी भी देर बात कर सकते थे। बताया जाता है कि 10 जनवरी के बाद से जैसे ही पार्षदों का कार्यकाल समाप्त हो गया निगम प्रशासन ने पार्षदों का मोबाइल फोन बंद करवा दिया साथ ही उनके घर जाने वाले सभी समाचार पत्रों को भी डलवाना बंद करवा दिया है।
सूत्र बताते हैं कि पार्षदों द्वारा अब अपने निवास पर अपने या कोई अन्य समाचार पढने के लिए जहां समाचार पत्र के हॉकर से बात कर समाचार पत्र मंगाने पढ रहे हैं वहीं किसी अन्य से बात करने के लिए अपनी बंद पडी मोबाइलों की सिम को पुन: चालू कराया जा रहा है या फिर दूसरी सिम लेकर उसे चालू करवा कर बात करना शुरू किया गया है। सूत्र बताते हैं कि ऐसा निगम प्रशासन ने पार्षदों पर हो रहा व्यय को घाटे से उबरने के लिए किया है।

LEAVE A REPLY