शहर मे शाति बनाये रखने के लिये 27 साल पुराने बदताशो की कुंडली खंगाल रही पुलिस

0
9

पुराने बदमाशों का हो रहा डाटा तैयार, धर पकड़ शुरू
भोपाल। आगामी दिनों में अयोध्या का फैसला आने वाला है। जिसे देखते हुए पुलिस ने शहर में शांति व्यवस्था को बनाए रखने के लिए अतिरिक्त चौकसी बरतना शुरू कर दिया है। इसी कडी मे वर्ष 1992 के दंगे में उतपात मचाने वाले बदमाशों का डाटा तैयार किया जा रहा है। इस दोरान 27 सालों के भीतर दंगा कांड में आरोपी रहे जिन लोगों की मौत हो चुकी है, उनका डाटा अलग से तैयार किया जा रहा है। वहीं जो जीवित हैं, और लगातार अपराधिक गतिविधियों में शामिल हैं।

उनके खिलाफ धर पकड़ की मुहिम चलाई जा रही है। शहर के विभिन्न थाना इलाकों में फ्लैग मार्च निकाले जा रहे हैं। गुंडे और बदमाशों के खिलाफ जिला बदर कर्रवाई कराई जा रही है। जानकारी के अनुसार आगामी 11 से 17 नवंबर के बीच अयोध्या का फैसला सुप्रीम कोर्ट द्वारा आना संभावित है। इस फैसले के बाद कुछ अस्माजिक तत्व शहर के महौल को खराब कर सकते हैं ऐसा पुलिस का अनुमान है। सुरक्षा के मद्दे नजर भोपाल में रहने वाले किराएदारों के वेरिफि केशन कराए जा रहे हैं। होटलों,लॉजों और रैन बसेरों में ठहरे बाहरी व्यक्तियों की बारीकी से तजदीक की जा रही है। उनकी आईडी चेक करने के साथ ही एक डाटा तैयार किया जा रहा है। शहर में शांति व्यवस्था को बहाल रखने के लिए बुधवार को राजधानी के विभिन्न थाना क्षेत्रों में स्क्रीय रिकार्डशुदा बदमाशों 27 को भोपाल कलेक्टर ने जिला बदर और थाना हाजरी के आदेश जारी किए हैं। कलेक्टर तरुण पिथौड़े का कहना है कि शहर में सक्रीय गुंडे और बदमाशों के खिलाफ इस प्रकार की कार्रवाई लगातार जारी रहेगी।

LEAVE A REPLY