निगम मंडलों में नियुक्तियों के लिए गाइडलाइन पर हाईकमान की मुहर का इंतजार

0
11

भोपाल। प्रदेश में निगम मंडलों, आयोगों एवं सहकारी संस्थाओं आदि में राजनीतिक नियुक्तियों की सरगर्मीयों के बीच गाइडलाइन को लेकर पेंच फंसा हुआ है। वजह हैं कांगे्रस हाईकमान की मुहर का इंतजार। माना जा रहा है कि इसके तय होने के बाद ही नियुक्तियां किए जाने की संभावनाएं हैं। इस वजह से अभी और समय लगना संभावित है।

कांगे्रस महासचिव व पार्टी के प्रदेश प्रभारी दीपक बाबरिया ने इस संबंध में अपने दो दिवसीय प्रदेश के दौरे के बाद रिपोर्ट तैयार कर संगठन प्रभारी महासचिव वेणुगोपाल को सौंप दी है। बताया जा रहा है कि रिपोर्ट पर कांगे्रस अध्यक्ष सोनिया गांधी से चर्चा हानी है , इसके लिए मुख्यमंत्री कमलनाथ का दुबई दौरे से लौटने का इंतजार किया जा रहा है। जिससे की उनसे बातचीत की जा सके। सूत्रों का कहना है कि हाईकमान को हरी झंडी मिलने के बाद ही गाइडलाइन के आधार पर राजनीतिक नियुक्तियां की जाएंगी। गाइडलाइन बनाकर नियुक्तियों की बात बाबरिया पहले भी कह चुके हैं।
पवई उपचुनाव से बढ़ सकता है इंतजार
प्रदेश कांग्रेस अध्यध की नियुक्ति, मंत्रिमंडल विस्तार और राजनीतिक नियुक्तियों के लिए पहले लोकसभा चुनावों का इंतजार किया गया और इसके बाद झाबुआ विस क्षेत्र के उपचुनाव का। इसके बाद जैसे ही लंबित मामलों पर कसरत शुरू हुई तो पवई विस सीट खाली हो गई। मंत्री बनने एवं नियुक्तियों का इंतजार कर रहे विधायकों व नेताओं को आशंका है कि कहीं अब पवई विस के उपचुनाव के नाम पर इस कवायद पर फिर रोक न लग जाए।
संगठन की मजबूती पर होगा फोकस
भोपाल में दो दिन रहकर दीपक बाबरिया ने जो रिपोर्ट तैयार की है इसमें संगठन की मजबूती पर फोकस रखा गया है। गाइडलाइन के संदर्भ में बाबरिया ने सीएम कमलनाथ से चर्चा की ही, इसके साथ ही पार्टी के मोर्चा संगठनों एवं विभागों के पदाधिकारियों की भी राय ली। ध्यान इस बार पर दिया जा रहा है कि नियुक्तियों के बाद पार्टी के अंदर असंतोष न भड़के, क्षेत्रीय व गुटीय संतुलन का ध्यान रहे और संगठन को मजबूत करने में मदद मिले।

LEAVE A REPLY