मुख्यमंत्री जी…इन हादसों का जिम्मेदार कौन

0
7

भोपाल।अजयभारत न्यूज
छोटे तालाब के खटला पुरा घाट के पास गणेश विसर्जन के दौरान 11 युवकों की मौत ने भोपाल ही नही मध्य प्रदेश में गम का माहौल कर दिया है।हंसी-खुशी गणपति बप्पा को विसर्जित करने जाते इन युवाओं के परिजनों को शायद पता भी ना होगा कि वे अब कभी लौट कर ना आएंगे ।लेकिन इस हादसे ने भोपाल के पुलिस-प्रशासन की भूमिका पर सवालिया निशान खड़े कर दिए हैं।
दरअसल इसी छोटे तालाब में 3 साल पहले 2016 में 5 लोगों की मौत हो गई थी और उस मौत की वजह भी अनियंत्रित होकर नाव का पलटना था। उस हादसे के बाद तत्कालीन कलेक्टर ने साफ निर्देश दिए थे कि अब छोटे तालाब में नाव का संचालन पूरी तरह प्रतिबंधित रहेगा। बावजूद इसके एक बार फिर नाव चली और अब की बार 11 लोगों की जान चली गई।
हैरत की बात यह है कि गणेश विसर्जन जैसे महत्वपूर्ण कार्यक्रम के दौरान घटनास्थल पर पुलिस का या प्रशासन का कोई भी आला अधिकारी मौजूद नहीं था। इतने बड़े आयोजन के सफल संचालन में कलेक्टर और एसपी की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी रहती है कि वे पूरे समय उपस्थित रहकर कानून व्यवस्था बनाए रखें। साथ ही इस बात की भी सख्त ताकीद समय-समय पर दी गई है कि बड़ी प्रतिमाओं का विसर्जन केवल क्रेन के माध्यम से किया जाएगा ।फिर भी इतने बड़े हादसे के दौरान ना तो कलेक्टर मौजूद थे ना एसपी। इतना ही नहीं उनके मातहत के बड़े अधिकारी भी गए थे। अब प्रशासन में दो नाव संचालकों पर कानूनी कार्रवाई करके अपने कर्तव्य की इतिश्री कर ली है लेकिन जब तक जिम्मेदार अधिकारियों पर कार्रवाई नहीं होती ऐसे हादसों की पुनरावृत्ति होती रहेगी।

LEAVE A REPLY