लगातार हो रही बारिश के दौरान गिरा करीब देढ सौ साल पुराना बहुमजिंला मकान

0
13

भोपाल नवाब के खांजाची का था मकान
भोपाल। प्रदेश भर में लगातार हो रही बारिश के कारण जर्जर हो चुकी इमारते, मकान गिर रहे है। इसी कडी मे राजधानी भोपाल में मारवाड़ी रोड पर दो मंजिला इमारत अचानक भरभरा कर ढह गई। यह इमारत काफी पुरानी थी, और जर्जर हो चुकी थी। इमारत गिरने की जानकारी मिलते ही निगम अमला मौके पर पहुंचा और रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया गया। जानकारी के अनुसार ये इमारत भोपाल रियासत के आख़िरी नवाब के खजांची का था, जो काफी जर्जर हालत में पहुंच गया था। आसपास के लोग इसे ढहाने के लिए कई बार नगर-निगम में शिकायत कर चुके थे। जानकारी के अनुसार मंगलवार दोपहर को तापड़िया कॉम्प्लेक्स के पास खजांची गली में दो मंजिला बिल्डिंग भरभराकर गिर गई। इस बिल्डिंग में प्लास्टिक मटेरियल का गोदाम था, जिसमे लाखों का माल भरा हुआ था, लेकिन नगर निगम ने इसे अब तक नहीं गिराया था। गनीमत रही कि इस मकान के मलबे में कोई आमजन नहीं आया वरना भारी भरकम मलबे मे दबने से कोई जनहानि भी हो सकती थी। हादसे की जानकारी देते हुए मकान के एक वारिस राजीव मौर्य ने बताया की यह मकान उनके स्वर्गीय पिताजी को भोपाल के आखिरी नवाब ने दिया था। फिलहाल इस मकान मे उनके सात् भाईयो ओर पांच बहनो का हिस्सा है। इस खतरनाक घोषित की गई बिल्डिंग मे उनके तीन भाईयो के परिवार अभी भी रहते है। बताया गया है की नगर निगम ने इसे ख़तरनाक मकान घोषित कर अपनी लिस्ट में डाल रखा था, लेकिन परिवार के लोगो के आपसी विवाद के चलते यह पूरी तरह खाली नही हो सका, जिसपर नगर निगम ने भी लापरवाही बरतते हुए कोई कार्यवाही नही की। मोके पर पहुचे निगम अधिकारियो ने बताया की हादसे की सुचना मिलने के बाद निगम कमीशनर ओर एसडीएम मौके पर पहुचेगे ओर मकान को अफसरो की मोजूदगी मे पुलिस टीम द्वारा खाली करवाकर इसे आज ही हाईड्रोलिक मशीन से तोडा जायेगा।

LEAVE A REPLY