जब धमाके के बाद धूं-धूं कर जलने लगा कोस्टल जगुआर

0
285

विशाखापट्टनम:विशाखापट्टनम में ऑफशोर सपोर्ट नौका कोस्टल जगुआर में अचानक भीषण आग लग गई। विशाखापट्टनम तट पर तटरक्षक के एक अपतटीय पोत में सोमवार को आग लगने के बाद 28 कर्मियों को बचा लिया गया, जबकि चालक दल का एक सदस्य लापता है। पूर्वी नौसेना कमान के एक प्रवक्ता के अनुसार, आग लगने के बाद जहाज कोस्टल जगुआर के चालक दल के सदस्य खुद को बचाने के लिए जहाज से समुद्र में कूद गए।
उन्होंने कहा, “कोस्टल जगुआर में कथित तौर पर एक जोरदार विस्फोट हुआ, जिसके बाद जहाज से धुंआ निकलने लगा।”क्षेत्र में मौजूद आईसीजीएस रानी राशमोनी को बचाव अभियान के लिए भेजा गया। विशाखापत्तनम पोर्ट ट्रस्ट (वीपीटी) की नौकाओं के साथ मिलकर रानी राशमोनी ने संकट में फंसे चालक दल को बचाया।
प्रवक्ता ने कहा, “पोत पर तैनात रहे चालक दल के 29 सदस्यों में से 28 को बचा लिया गया है, जबकि एक सदस्य लापता है, जिसकी तलाश जारी है।”
बचाव कार्य में आईसीजीएस समुद्र पहरेदार, आईसीजी हेलीकॉप्टर और आईसीजीएस सी-432 भी शामिल हैं। आग लगने के सही कारणों का अभी तक पता नहीं चल पाया है।

LEAVE A REPLY