पृथ्वी पर कार्रवाई में देर नहीं की गयी : बीसीसीआई

0
16

मुम्बई । क्रिकेटर पृथ्वी शॉ के डोपिंग मामले में भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) ने अपनी सफाई दी है। बीसीसीआई ने कहा है कि अगर उन्हें डोपिंग की रिपोर्ट समय पर मिल गई होती तो पृथ्वी पर पहले ही कार्रवाई हो जाती। बीसीसीआई ने कहा कि नेशनल डोप टेस्टिंग लैबरेटरी की रिपोर्ट मिलने में देरी न होती तो पृथ्वी को आईपीएल और मुंबई टी-20 लीग में खेलने से रोक दिया जाता।

बीसीसीआई ने कहा है कि बीसीसीआई को पृथ्वी की रिपोर्ट में प्रतिबंधित पदार्थ होने की जानकारी 2 मई को दी गई थी और तब तक आईपीएल खत्म होने वाला था। वहीं पृथ्वी की पूरी लैब रिपोर्ट 17 मई को मिली , जिसे बाद में समीक्षा जांच के लिए भेजा गया था। साल्वी ने मामले पर सफाई देते हुए कहा, ‘हमारी तरफ से कोई देर नहीं की गयी। प्रयोगशाला को 10 दिन में रिपोर्ट सौंप देनी चाहिए थी, पर तकनीकी कारणों से इसमें देरी हुई। इससे बचा जा सकता था, उसे खेलने देने की और कोई वजह नहीं थी, हमने रिपोर्ट आईसीसी और वाडा दोनों को भेज दी है। अगर वाडा को लगेगा कि हमारा फैसला अन्यायपूर्ण है तो वे इसके खिलाफ अपील करेंगे। बीसीसीआई के एक अधिकारी ने कहा कि किसी भी तरह के गलत इरादे से पूरी प्रकिया में देरी नहीं की गई है।
दूसरी ओर प्रयोशाला से जुड़े सूत्रों का कहना है कि उन्होंने समयसीमा के अंदर ही बीसीसीआई को रिपोर्ट सौंप दी थी। गौरतलब है कि आईपीएल के बाद पृथ्वी मुंबई लीग में भी शामिल हुए थे और उनकी टीम नॉर्थ मुंबई पैंथर्स ने खिताब भी जीता।

LEAVE A REPLY