ट्रंप नहीं होंगे 26 जनवरी के चीफ गेस्ट? मोदी सरकार के निमंत्रण की तारीख पर भ्रम

0
5

नई दिल्ली:अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के भारत दौरे को लेकर डेट पर कन्फ्यूजन चल रहा है. अभी तक उम्मीद की जा रही थी कि ट्रंप भारत के गणतंत्र दिवस पर मुख्य अतिथि हो सकते हैं, लेकिन अब भारत सरकार के सूत्रों के मुताबिक ट्रंप को निमंत्रण किसी खास दिन के लिए नहीं दिया गया था. यानि वे गणतंत्र दिवस से पहले या फिर बाद में आ सकते हैं.
हालांकि भारत आने पर ट्रंप प्रशासन की ओर से भी अभी तक कोई संकेत नहीं दिए गए हैं. बीते हफ्ते वाइट हाउस की तरफ से बयान आया था कि ट्रंप गणतंत्र दिवस के मौके पर भारत जाएंगे या नहीं, इस पर अभी तक फैसला नहीं लिया गया है. हालांकि, वाइट हाउस ने इससे पहले कहा था कि ट्रंप को निमंत्रण गणतंत्र दिवस के लिए ही दिया गया था. ट्रंप को यह निमंत्रण पीएम मोदी के 2017 के अमेरिकी दौरे पर दिया गया था, जोअब तक पेंडिंग है.
पिछले हफ्ते ही व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने कहा है कि भारत से न्यौता मिला है, लेकिन मैं नहीं मानती कि इस पर अंतिम फैसला कर लिया गया है. सैंडर्स ने ये जवाब उस समय दिया जब पत्रकारों ने उनसे उन रिपोर्टों के बारे में पूछा था जिसमें कहा गया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अगले साल के गणतंत्र दिवस समारोह में ट्रंप को मुख्य अतिथि के तौर पर आमंत्रित किया है. उन्होंने कहा कि 2+2 वार्ता में राष्ट्रपति की अगले साल की यात्रा पर चर्चा की जाएगी.
अभी तक खबरें थीं कि भारत ने अगले साल गणतंत्र दिवस समारोह का मुख्य अतिथि बनने के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को न्योता भेजा है. अगर वह इसे स्वीकार करते हैं तो इसे विदेश नीति के लिहाज से मोदी सरकार की बड़ी सफलता मानी जाएगी. भारत की ओर से यह निमंत्रण इसी साल अप्रैल माह में भेजा गया है. अभी तक अमेरिकी सरकार की ओर से इस पर कोई आधिकारिक जवाब नहीं दिया गया है. ट्रंप यदि भारत आते हैं तो उनका यह दौरा उनके पूर्ववर्ती बराक ओबामा के दौरे से भी ज्यादा चर्चित होगा. बराक ओबामा साल 2015 में रिपब्लिक डे परेड के चीफ गेस्ट थे.

LEAVE A REPLY