सावन सोमवार : शिवालयों में अभिषेक,गूंजा ॐ नमः शिवाय

0
10

ग्वालियर:ग्वालियर सावन के दूसरे सोमवार को शहर के मंदिर और शिवालयों में भारी संख्या में भक्त पहुंचे। भक्तों की भीड़ को देखते हुए भगवान भोलेनाथ के दर्शन और अभिषेक के लिए विशेष इंतजाम किए गए हैं। रविवार रात से मंदिर परिसर में महामृत्युंजय व अन्य अनुष्ठान भी आयोजित किए गए। अचलेश्वर महादेव मंदिर, कोटेश्वर महादेव मंदिर, गुप्तेश्वर महादेव मंदिर पर श्रद्धालुओं का तांता लगा रह । अचलेश्वर महादेव मंदिर में पूजा अर्चना की गई ।
सावन के दूसरे सोमवार को आज शिवालयों में भगवान शिव की प्रतिमाओं पर बेल पत्र, धतूरा और फूल चढ़कार अभिषेक किया गया। शिव मंदिरों पर वेदोक्त विधि से रूद्राभिषेक किया गया। शहर के कई मंदिरों भक्तों ने शिव दरबार में 1008 बेल पत्र चढ़ाकर गाय के दूध से शिवजी का भक्तों द्वारा दुग्ध अभिषेक किया गया। भोलनाथ केेे आज दूसरे सावन सोमवार पर शिव प्रतिमाओं का विशेष श्रृंगार किया गया। अचलेश्वर शिव मंदिर, कोटेश्वर महादेव मंदिर गुप्तेेेश्वर मंदिर सहित शहर भर के शिवालयों में भगवान शिव की अराधना श्रद्धालुओं द्वारा की गई। महिलाओं द्वारा मंदिरों में भोले के भजनों की प्रस्तुति दी गई।
————————————–
मंदिरों में भक्तों की भीड़ उमड़ी
शहर के मंदिरों में भक्तों की भीड़ उमड़ी। आज शिवजी का जल अभिषेक किया गया। पंडितों के अनुसार कृष्ण पक्ष 14 दिनों का और शुक्ल पक्ष 16 दिनों का है। इसलिए इस सावन के महीने में रुद्राभिषेक का अपना अलग ही महत्व होगा। उन्होंने बताया कि वह लोग जिनकी शनि की साढ़े साती चल रही है, उन्हें सावन में रुद्राभिषेक अवश्य करना चाहिए, इससे दोष दूर होंगे। सावन में कुछ खास काम करने से कुछ खास फलों की प्राप्ति होती है। वहीं इसके अलावा एक ऐसा भी काम है जिसे करने से हर जगह विजय की प्राप्ति होती है।

LEAVE A REPLY